Shipping FREE anywhere in India!
items in your cart
  • Home
  • JAAGRUKTA : ANDHVISHWAS SE AJADI KAB ?

JAAGRUKTA : ANDHVISHWAS SE AJADI KAB ?

Author: J.P.S.JOLLY  

ISBN: 9789382524731

Year: 2018

Pages: 152

Medium: Hindi

Publisher: The Book Line

Edition: 1ST

195.00176.00
Price includes all taxes.
  • Description
सकारात्मक सोच को रोजमर्रा की जिंदगी में रचनात्मक तरीके से इस्तेमाल करते हुए समाज को पाॅजिटिव लाइफ देने वाले दिल्ली निवासी जौली अंकल लाजवाब कलम के धनी है। जागरूकता का संदेश देते हुए यह अक्सर कहते हैं कि ज्ञान और विज्ञान में इतनी शक्ति है कि यह हर किसी के मन से अंधविश्वास, डर, नकारात्मक सोच सदा के लिये खत्म कर सकते हैं। किसी भी देश के लोग जो अंधविश्वास में जी रहे हो उन्हें विकसित या सभ्य समाज नहीं कहा जा सकता। इसलिए इन्होंने अपनी इस नई पुस्तक के माध्यम से समाज में फैली अंधविश्वास जैसी कुरीतियों के खिलाफ अभियान शुरू करने का प्रयास किया है। जौली अंकल पाॅजिटिव लाइफ से हर इंसान के व्यवहार में सकारात्मक परिवर्तन लाने वाले माने जा सकते है। विषय चाहे कोई भी हो यह अपनी हर बात इतनी सरल भाषा में कहते है कि वो सीधा पाठको के दिल को छू जाती हैं। देश-विदेश में इनकी लोकप्रिय किताबें अब हिंदी के अलावा अंग्रेजी, बंगाली, मराठी, गुजराती एवं पंजाबी भाषा में भी पाठकगण बार-बार पढ़ना पसंद करते हैं। उनका मानना है कि एक अच्छे लेखक को सदैव ऐसी भूमिका निभानी चाहिए जिससे समाज में जागरूकता एवं सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो सके। अपनी हर नई पुस्तक लिखते समय वो इस बात का ध्यान रखते है कि उनके द्वारा लिखे हुए विचार मानवजाति के हित में होने के साथ दूसरों का जीवन संवारने में मददगार साबित हो पायें। जौली अंकल देश के हर वर्ग से अपील करते हुए यही कहते हैं कि जागरूकता रूपी इस अभियान को हर घर तक पहुँचाया जाये ताकि सभी लोग अंधविश्वास को मिटा कर सही दिशा पर आगे बढ़ सकें। अभी तक इनकी प्रकाशित 32 पुस्तकों की कद्र करते हुए इन्हें विभिन्न संस्थाओं द्वारा 125 से अधिक मान-सम्मान, पुरस्कारों एवं अवार्डो से सम्मानित किया जा चुका है।
  • Lorem ipsum dolor sit amet 1
  • Lorem ipsum dolor sit amet 2
  • Lorem ipsum dolor sit amet 3
Website designed by Infomedia Web Solutions